Wednesday, 29 June 2016

दुनिया में पहली बार दिल्ली में बनेगी कूड़े से सड़क

दुनिया में पहली बार दिल्ली में बनेगी कूड़े से सड़क
सांकेतिक तस्वीर
नई दिल्ली: सुनकर हैरानी जरूर हो सकती है, लेकिन यह सच है कि कूड़े से सड़क बनाने का काम पहली बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर किया जाएगा। दुनियाभर में अब तक ऐसा कहीं नहीं हुआ है। इस शोध को साकार किया है CSIR के सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट ने, जिसपर अगस्त महीने से काम शुरू हो जाएगा।

नेशनल हाइवे आथोरिटी ऑफ इंडिया के दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे के 16 लेन के पहले चरण में सराय काले खां से यूपी गेट के बीच के करीब साढे 8 किलोमीटर की दूरी में गाजीपुर के लैंडफिल साइट के म्यूनिसिपल सालिड वेस्ट को सड़क बनाने के लिए इस्तेमाल में लाया जाएगा।

CSIR के सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट के निदेशक प्रोफेसर सतीश चंद्र ने बताया कि फिलहाल गाजीपुर के लैंडफिल साइट में 12 मिलियन टन कचरा है और रोजाना यहां 3000 टन कचरा पहुंचता है। इसका इस्तेमाल सीधे सड़क में नहीं कर सकते, लिहाजा सेग्रिगेशन मेथड के जरिए शीशा, मेटल, कपड़ा, प्लास्टिक आदि को अलग करना होगा। तब यहां पड़े कचरे का करीब 60-65% सड़क बनाने के काम में ला सकते हैं। जितना कूड़ा यहां पड़ा है उससे 20 किलोमीटर लंबी सड़क बन सकती है।

इतना ही नहीं, छंटाई से अलग की गई चीजों से बिजली की पैदावार भी की जाएगी। सफलता के बाद देश के 6000 शहरों के कचरे की समस्या का भी निपटारा हो जाएगा।