Friday, 15 April 2016

अल्जाइमर और कैंसर से लड़ने वाले छह नए प्रोटीन की हुई पहचान


अल्जाइमर और कैंसर से लड़ने वाले छह नए प्रोटीन की हुई पहचान
न्यूयॉर्क: कहा जाता है कि प्रोटीन शरीर के भरपूर मात्रा में एनर्जी देते हुए स्टैमिना बढ़ाता है। वैज्ञानिकों के एक दल ने छह ऐसे नए प्रोटीन की खोज की है, जो बुढ़ापा बढ़ने के साथ ही डायबिटीज़, अल्जाइमर, कैंसर और अन्य आयु संबंधी रोगों के निदान और चिकित्सा की जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

शोधकर्ताओं के अनुसार, ये छोटे प्रोटीन कोशिकाओं में ऊर्जा पैदा करने वाले माइटोक्रांड्रिया द्वारा निर्मित होते हैं। माइटोक्रांड्रिया को मानव कोशिकाओं का पॉवर हाउस कहा जाता है। यह कोशिकाओं के चयापचय और उनके जीवन में अहम भूमिका निभाता है।

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ साउथर्न कैलिफोर्निया के मुख्य शोधकर्ता पिनकास कोहेन का कहना है कि “इन निष्कर्षो की सहायता से हमें आयु से संबंधित रोगों की दवाइयां विकसित करने में मदद मिलेगी”। शरीर में इन महत्वपूर्ण प्रोटीन की मात्रा उम्र बढ़ने के साथ ही कम होती जाती है, जिससे शरीर आयु संबंधित रोगों के चपेट में आने लगता है।

इस शोध के लिए वैज्ञानिकों ने कंप्यूटर विश्लेषण की सहायता से छह नए प्रोटीन के लिए जिम्मेदार जीनों की खोज की है, जिन्हें स्माल ह्यूमैनिन-लाइक पेप्टाइड्स (एसएचआईपी) करार दिया गया है।